बुधवार, 18 अप्रैल 2012

हाइकू: फिर क्या करें?


1-
उम्र ढले
चाह नहीं
फिर क्या करें?
2-
हम आए
आप नहीं
फिर क्या करें?
3-
बच्चे बोले
चुप रहो!
फिर क्या करें?
4-
भूख लगे
अन्न नहीं
फिर क्या करें?
5-
प्यार हुआ
जात नहीं
फिर क्या करें?
6-
लड़की है
दहेज़ नहीं
फिर क्या करें?
7-
छुट्टा सांड़
खेत खाए
फिर क्या करें?
8-
आवकाश है
काम नहीं
फिर क्या करें?
9-
हाथ खुला
ज़ेब फटी
फिर क्या करें?
10-
देख रहा
लूट मची
फिर क्या करें?
11-
दोस्त सब
दुश्मन हुए
फिर क्या करें?
12-
गेहूँ पका
ओले पड़े
फिर क्या करें?
13-
याद आये
नींद न आये
फिर क्या करें?
14-
मन उड़े
तन शिथिल
फिर क्या करें?
15-
सपने बहुत
पहँच नहीं
फिर क्या करें?
16-
बॉस दुष्ट
बीबी रुष्ट
फिर क्या करें?
17-
वफ़ा पर
ज़फ़ा मिले
फिर क्या करें?
18-
कांटे बहुत
नंगे पैर
फिर क्या करें?
19-
धूप तेज़
छाया नहीं
फिर क्या करें?
20-
लिखूँ बहुत
छपे नहीं
फिर क्या करें?
                                    -विजय

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर हाइकु ।

    यह तरीका तो बड़ा मस्त है सर जी ।

    बधाई ।।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही बढ़िया नये अंदाज की प्रस्तुति,सुंदर अभिव्यक्ति,बेहतरीन रचना,...हाइकू से भी अच्छा लगा आपका ये लिखने का अंदाज,.विजय जी ..

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: कवि,...

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लिखिए अपनी भाषा में